Hind Desh Ke Niwasi Lyrics हिंद देश के निवासी लिरिक्स

Hind desh ke niwasi poem/song reminds us of our childhood. We used to watch this song's video on Doordarshan. It was a very nice poem. It was also published in books of school kids.

Song lyrics are very beautiful and it shows the unity in diversity of Indians. Song lyrics is inspired by the beauty of India, and it describes its diversified beauty in words.

Poem lyrics are written by Vinay Chandra Maudgalya, and also sung by Vinay Chandra Maudgalya. He was the founder of Gandharva Mahavidyalaya.

Music is given by Basant Desai. Let's check out Sabhi jan ek hai song lyrics in both Hindi and English language fonts.

Hind Desh Ke Niwasi Lyrics हिंद देश के निवासी लिरिक्स

Hind Desh Ke Niwasi Lyrics In English Fonts

Searching for hind desh ke niwasi lyrics in English language fonts, then you are at the perfect destination. Check the following lines further.

Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai
Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai

Bela Gulab Juhi Champa Chameli
Pyare Pyare Phool Ghoonthe Mala Me Ek Hai
Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai

Koyal Ki Kook Pyari Papaiye Ki Ter Nyari
Koyal Ki Kook Pyari Papaiye Ki Ter Nyari
Gaa Rahi Tarana Bulbul Raag Magar Ek Hai
Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhusha Jahe Anek Hai

Ganga Jamuna Brahmaputra Krishna Kaveri
Jakar Mil Gayi Sagar Me Hui Sab Ek Hai
Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai

Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai
Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
Rang Roop Vesh Bhasha Chahe Anek Hai

Hind Desh Ke Niwasi Lyrics Hindi हिंद देश के निवासी लिरिक्स

हिन्द देश के निवासी कविता / गीत हमें अपने बचपन की याद दिलाता है । हम दूरदर्शन पर इस गाने का वीडियो देखते थे । बहुत अच्छी कविता थी । इसे स्कूली बच्चों की पुस्तकों में भी प्रकाशित किया गया था ।

गीत के बोल बहुत सुंदर हैं और यह भारतीयों की विविधता में एकता को दर्शाता है । गीत के बोल भारत की सुंदरता से प्रेरित हैं, और यह शब्दों में इसकी विविधतापूर्ण सुंदरता का वर्णन करता है ।

कविता के बोल विनय चंद्र मौदगल्य द्वारा लिखे गए हैं, और विनय चंद्र मौदगल्य ने भी गाए हैं । वह गंधर्व महाविद्यालय के संस्थापक थे ।

संगीत बसंत देसाई द्वारा दिया गया है । हिन्द देश के निवासी गाने के लिरिक्स देखिये ।

हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं

बेला गुलाब जूही चम्पा चमेली
बेला गुलाब जूही चम्पा चमेली
प्यारे-प्यारे फूल गूंथे माला में एक हैं
प्यारे-प्यारे फूल गूंथे माला में एक हैं
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं

कोयल की कूक न्यारी पपीहे की टेर प्यारी
कोयल की कूक न्यारी पपीहे की टेर प्यारी
गा रही तराना बुलबुल राग मगर एक है
गा रही तराना बुलबुल राग मगर एक है
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं

गंगा यमुना ब्रह्मपुत्र कृष्णा कावेरी
गंगा यमुना ब्रह्मपुत्र कृष्णा कावेरी
जाके मिल गयी सागर में हुई सब एक हैं
जाके मिल गयी सागर में हुई सब एक हैं

हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं
हिन्द देश के निवासी सभी जन एक हैं
रंग रूप वेष भाषा चाहे अनेक हैं
हिन्द देश के निवासी..

Youtube Video

Youtube Video Details

Song Wiki/Details
Song Name:Hind Desh Ke Niwasi Sabhi Jan Ek Hai
SingerVinay Chandra Maudgalya
UploaderDoordarshan
RatingWorst Rating : 1
Best Rating: 5
Average: 4.11
Total Count: 69
GenreOthers Songs
WriterVinay Chandra Maudgalya
Music ComposerBasant Desai

FAQ's

Who is the writer of this song?

Ans: Vinay Chandra Maudgalya is the writer of this song.

Who is the singer of this song?

Ans: Vinay Chandra Maudgalya is the singer of this song.

Who is the music composer of this poem?

Ans: Basant Desai is music composer of this poem.

Tags : Lyrics in English Hindi Lyrics Lyrics in Hindi English Lyrics Writer Name लिरिक्स इन हिंदी हिंदी लिरिक्स लिरिक्स हिंदी में hind desh ke niwasi हिन्द देश के निवासी कविता patriotic song sabhi jan ek hain